मेनू

शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र

10/12/2016 - वशीकरण यन्त्र
शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र

शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र

शूकर दंत  का प्रयोग जादू टोने एवं घर की समस्याओं को हल करने वशीकरण शत्रु नाश रोग नाश एवं तंत्र विधाओं के लिए किया जाता है। कहा जाता है कि भगवान विष्णु ने पृथ्वी को बचाने के लिए बराह अवतार लेकर पताल से पृथ्वी को अपने दांतो से उठा लिया था तब से शूकर दत्त का उपयोग तंत्र विद्या एवं वशीकरण में होने लगा । वैसे तो सूकर एक निंदनीय पशु है पर तंत्र जगत में इसका एक अलग ही महत्व है यह बहुत आसानी से आपको प्राप्त हो सकता है किसी भी कसाई की दुकान पर आपको मिल सकता है और इसे सिद्ध करके वह धारण कर सकता है उसको धारण करने वाला व्यक्ति हर सुख सुविधाओं को प्राप्त करने वाला होता है वह आम मानव से  देव की भांति  सुख सुविधाओं को  प्राप्त कर लेता है उसे कभी स्वप्नदोष नहीं होता शूकर-दंत का तंत्र प्रयोग मंत्र अत्यंत सरल है या किसी भी आम मानस के द्वारा किया जा सकता है पर याद रखें या तंत्र आप किसी व्यक्ति को हानि पहुंचाने के लिए न करें नाही गलत भावना से क्योंकि इस तरह तंत्र करने से या पूर्ण नहीं होगा और पर्याप्त फल नहीं प्राप्त होगा।

शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र

शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र

शूकर दन्त वशीकरण प्रयोग –

१- यदि आपको कहीं से शूकर का दंत प्राप्त होता है तो उसको किसी शुभ मुहूर्त पर जैसे होली दीपावली दशहरा पर धारण करने से सिद्धि धन  ऐश्वर्या विद्या आदि प्राप्त होती है

२- शूकर-दंत प्रबल वशीकरण करने वाला होता है इसे  स्वच्छ होकर स्नान करके पूजा करके दंत को गले में  ताबीज बना कर धारण करने पर  देखने वाला व्यक्ति मोहित हो जाता है।

३- शूकर की दंत के ताबीज को गले में पहनने वाला व्यक्ति अजय हो जाता है सभी जगह उसको लाभ होता है

४-  शूकर दंत का प्रयोग हम केवल दीपावली दशहरा होली पर ही कर सकते हैं तभी यह उत्तम फल देगा एवं आपको लाभ देगा।

शूकर दन्त वशीकरण साधना –

यदि आप किसी को अपने वश में करना चाहते हैं आपके घर में अशांति हैं  ग्रह क्लेश है नौकरी में समस्या है भूत-प्रेत की बाधाएं हैं कोर्ट कचहरी की समस्या हो , शत्रु परेशान कर रहे हो ,व्यापार में वृद्धि नहीं हो पा रही हो यह कोई  ऐसी समस्या जिसका हल नहीं हो पा रहा तो  शूकर-दंत से  आपकी सभी समस्याएं  समाप्त हो जाएगी  इसके लिए आपको दीपावली दशहरा  या होली पर यह आराधना करनी होगी । क्योंकि यह आराधना  केवल  इन तीनों दिनों में ही की जा सकती है इसके लिए  शांत मन से स्वच्छ होकर स्नान कर सफेद वस्त्र धारण कर आसन पर बैठ जाएं और अपने दाहिने हाथ में शूकर-दंत लेकर १०८ बार मंत्रों का जाप करें जप के दौरान आपकी दृष्टि  शूकर-दंत पर ही रहनी चाहिए तभी यह सिद्ध होगा और मंत्र उच्चारण के समय उस दंत पर फूंक मारते रहे, मंत्रों के द्वारा सिद्ध होने के बाद शूकर-दंत का आप एक ताबीज़ बनवा लीजिए और उसको अपने गले में धारण कर ले आपकी सारी बाधाएं समाप्त हो जाएगी आपके अंदर वशीकरण करने की क्षमता उभर कर आ जायेगी ।

मंत्र-

ॐ ह्रीं क्लिं श्रीं वाराहः-दन्तायः भैरवायः नमः ।

 

ताबीज़ से लाभ-

१-वशीकरण –

जो भी व्यक्ति शूकर-दंत की सिद्ध ताबीज अपने गले में धारण करता है वह किसी को भी अपने वश में कर सकता है पर इसका उपयोग आप किसी व्यक्ति के अनहित के लिए नहीं कर सकते।

२- कोर्ट कचहरी –

यदि आपका कोई मुकदमा फंसा हो और आपको कोई परिणाम नहीं मिल रहा हो जिस कारण आप काफी परेशान होते हो तो आपको इस ताबीज से निश्चित लाभ होगा और आपकी विजय होगी।

३-रोग निदान-

यदि आप किसी रोग से ग्रसित हो और आपको किसी डॉक्टर हकीम यह किसी भी प्रकार की दवाओं से आराम नहीं मिल रहा हो तो आप यह ताबीज धारण करें आप के सभी रोग नष्ट हो जाएंगे और आप को  कभी स्वप्नदोष नहीं होगा एवं आप एक स्वस्थ सुंदर शरीर के मालिक हो जाएंगे ।

४-शत्रु नाश –

शूकर-दंत की ताबीज़ धारण करने वाले व्यक्ति की सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं उसको किसी चीज की चिंता नहीं रहती एवं उसके सभी शत्रु स्वयं ही नष्ट हो जाएंगे और आपको कभी परेशान नहीं कर पाएंगे।

५-व्यापार –

आपका व्यापार यदि मंदा चल रहा हो उसमें वृद्धि ना हो रही हो पैसा फसा हो या कोई अन्य समस्या हो तो इस शूकर दंत ताबीज को धारण करने से सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं और व्यापार में वृद्धि दिखने लगती है । यदि आप ताबीज नहीं धारण कर पा रहे हैं तो शूकर-दंत को अपने व्यापार स्थल या कार्यस्थल के बाहर लगाने से भी लाभ होगा।

६- घृह क्लेश –

आपके घर में यदि आए दिन झगड़ा होता हो या शांति की कमी हो जिस कारण आप परेशान हो रहे हो एवं इसी कारण आपको घर में वृद्धि ना दिख रही हो तो मात्र इस ताबीज को धारण करने से घर में शांति सुख एवं धन की वर्षा होने लगती है ।

७- प्रेत बाधा –

यदि आपके घर में भूत-प्रेत का साया हो या आपके घर में कोई व्यक्ति किसी आत्मा द्वारा पीड़ित हो तो उसके लिए आपको सिद्ध शूकर-दंत लेकर उस व्यक्ति के पुराने कपड़े पर लपेटकर बहते हुए जल में प्रवाहित करना चाहिए जिससे आपके घर की सभी प्रेत बाधाएं समाप्त हो जाएंगी।

८- शिक्षा –

यदि आप किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे हो और बार-बार आपको उसमें नाकामी ही मिल रही हो जिस कारण आपका मन विचलित होने लगा हो तो आप इस शूकर-दंत ताबीज को धारण करने से लाभ होगा आपका मन एकाग्र होगा एवं सफलता प्राप्त होगी।

९- प्रेम सबन्ध-

यदि आप किसी से प्रेम करते हैं और उससे विवाह करना चाहते हैं पर समस्याएं आ रही हो तो इस शूकर-दंत को मंत्रो द्वारा सिद्ध करके पहनने से सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं एवं प्रेम संबंधों में सफलता प्राप्त होती है शीघ्र विवाह होता है

 

[Total: 2    Average: 3/5]
WhatsApp WhatsApp us